Anjeer ki Kheti : किसान भाई करे इस फल की खेती बाजार में बिकेगा 1000 रुपए प्रति किलो,देखे FREE

Anjeer ki Kheti

Anjeer ki Kheti – दोस्तों यदि आप एक किसान है और आप खेती करने को लेकर इच्छुक है तो आज हम आपको एक ऐसे फल की खेती के बारे में बताने वाले हैं जिसको आप अगर करते हैं तो आप लाखो रुपये आसानी से कमा सकते हैं। इसके अलावा इस फल की मांग बाजार में हमेशा रहता है तथा इस फल की कीमत बाजारों में 800 रुपए से लेकर 1000 रुपए तक का होता है। 

Cactus Farming: सूखे और बंजर जमीन में खेती के लिए वरदान है कैक्टस, जाने कैसे करें इसकी खेती

इसके अलावा इस फल की मांग विदेश में भी रहता है। ऐसे में आप इस फल की खेती करते हैं तो आप अच्छा खासा मुनाफा कर सकते है। आज हम बात कर रहे हैं अंजीर की खेती के बारे में जिसको कर आप आसानी से लाखों रुपए तक कमा सकते हैं। आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको Anjeer ki Kheti कैसे करें? Anjeer ki Kheti में लागत एवं कमाई से जुड़ी सभी जानकारी देने वाले हैं तो आप पोस्ट में अंत तक बन रहे।

किसान भाई इस फल की खेती से कमाए 6 महीने में 10 लाख रुपए, पेड़ लगाने का खर्चा सरकार देगी

किसान भाई इस फल की करें खेती बाजार में बिकेगा 1 हज़ार रुपए प्रति किलो – Anjeer ki Kheti
Anjeer ki Kheti

वर्तमान समय में हमारे देश में अंजीर की खेती (Anjeer ki Kheti) कृषि प्रणाली में अधिक मुनाफा वाला खेती है जिसे कई क्षेत्रों में उगाया जाता है। अंजीर की खेती में इसके पेड़ों को सिंचाई के साथ-साथ उचित धूप, उचित मिट्टी, उचित खाद के साथ सही प्रबंधन की जरूरत होती है। हमारे देश में अंजीर की खेती को कुछ चुनिंदा राज्यों के किसान ही करते हैं जिसमें सबसे पहले अंजीर की खेती करने वाले राज्यों में महाराष्ट्र आता है। 

अंजीर की खेती महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, तमिलनाडु जैसे कुछ विभिन्न राज्यों में किया जाता है। ऐसे में अगर आप अंजीर की खेती करने को लेकर इच्छुक है तो उसके लिए आपको इसके तकनीकी जानकारी के बारे पता होना आवश्यक है तभी आप अंजीर की खेती से अच्छा मुनाफा कर सके। 

आपको बता दें कि Anjeer ki Kheti के लिए दमन की मिट्टी सबसे अच्छी मिट्टी मानी जाती है। इस मिट्टी में अधिक पैदावार देखने को मिलता है। अंजीर की खेती के लिए अच्छा जल निकासी का मिट्टी का होना आवश्यक होता है जिसमें मुख्य तौर पर PH मान 6 से लेकर 7 के बीच हो। ऐसे में अगर आप अंजीर की खेती करने को लेकर इच्छुक हैं तो उससे पहले आप मिट्टी का जांच करवा ले। 

इसके अलावा Anjeer ki Kheti में जलवायु को भी ध्यान में रखा जाता है। अंजीर की खेती के लिए सबसे अच्छा तापमान 25 से 30 डिग्री का माना जाता है ऐसे में सर्दियों के दिनों का तापमान 25 डिग्री से कम होने के कारण से इसके फलों के वृद्धि में कमी देखने को मिलता है।

अंजीर की खेती करने का सबसे अच्छा समय
Anjeer ki Kheti

यदि आप अंजीर की खेती करने को लेकर इच्छुक हैं तो आपको बता दें कि इसके पौधों को साल में दो बार लगाया जाता है। जिस क्षेत्र में सिंचाई की व्यवस्था अच्छा होता है वहां फरवरी और मार्च के माह में भी इसको लगाया जाता है। वहीं जहां सिंचाई की व्यवस्था मौजूद नहीं होता है उस क्षेत्र में इस वर्ष के मौसम यानी की जुलाई से लेकर अगस्त महीने के बीच में लगाया जाता है।

आपको बता दे की Anjeer ki Kheti अगर आप फरवरी मार्च महीने में करते हैं तो उस स्थिति में आपको सही समय पर सिंचाई करना होता है। इस मौसम में लगभग 5 दिनों के अंतराल पर आपको सिंचाई देना होता है। वही सर्दी के मौसम में आप अंजीर की खेती में 15 दोनों के अंतराल पर भी इसके पौधों को सिंचाई कर सकते हैं।

अंजीर के विभिन्न उन्नत किस्में

हमारे देश के किसान Anjeer ki Kheti को विभिन्न उन्नत किस्मों की खेती की जाती है। अंजीर की खेती में अंजीर के किस्म का चयन जलवायु तथा वातावरण को ध्यान में रखकर किया जाता है। आप जिस जलवायु के रहने वाले हैं उसके अनुसार अंजीर के उन्नत किस्म का चयन करें। इसके कुछ प्रमुख किस्म पंजाब अंजीर, पूना  अंजीर, दिनकर अंजीर, ब्राउन टर्की, मार्शलीज अंजीर हैं।

अंजीर की खेती करने का सही तरीका

यदि आप अंजीर की खेती करने को लेकर इच्छुक हैं तो आपको इसकी खेती के सही तरीक़े के बारे में जानकारी होना आवश्यकता होती है ताकि अच्छा उत्पादन हो। आप नीचे बताएं गए तरीके से अंजीर की खेती कर सकते हैं –

  • किसान भाई Anjeer ki Kheti में सबसे पहले खेत को अच्छी तरीके से तैयार कर ले। 
  • यदि आपके खेत में पहले से पुराने फसल के अवशेष बचे हुए हैं तो उसको अच्छी तरह साफ करना है। 
  • इसके बाद अंजीर की खेती के लिए कम से कम दो बार अच्छी तरीके से गहरी जुताई करना होगा।
  • खेत की जुताई करने के पश्चात आपको इसको समतल करना है ताकि आगे चलकर भविष्य में जल भराव जैसी समस्याओं का सामना न करना पड़े। 
  • जुताई करने के बाद अंजीर के पौधों की रोपाई करने के लिए आपको गड्ढे तैयार कर लेना है। गड्ढे की दूरी आप अपने अनुसार रख सकते हैं।
  • वही गड्ढे तैयार करते समय उसमें आपको उर्वरक का भी छिड़काव करना है ताकि मिट्टी को पोषण मिल सके। 
  • एक बार सब कुछ तैयार हो जाए तो उसके बाद आपको अंजीर की रोपाई करनी चाहिए। अंजीर की रोपाई करने के साथ ही हल्की सिंचाई भी करना होता है।
  • फिर समय-समय पर आपको सिंचाई तथा देखभाल करना होगा जिससे आपका बेहतर उपज हो।
अंजीर की खेती में मुनाफा और लागत

बात करें Anjeer ki Kheti के लागत के और मुनाफे के बारे में तो आप अंजीर के किस किस्म के पैदावार दे रहे हैं इस पर आपका लागत निर्धारित करता है। इसमें लगभग एक-एक प्रति हेक्टेयर जमीन पर आप 200 से 250 बीच के अंजीर के पौधे लगवा सकते हैं। वैसे एक पौधे में आपको 25 किलो तक फल प्राप्त होगा। वही बजार में इसका भाव 800 रुपए से लेकर 1000रुपए तक का प्रति किलो होता है। इस हिसाब से आप प्रति हेक्टर अंजीर की खेती में 20 से 25 लाख रुपए तक कमा सकते हैं।किसान भाई करे इस फल की खेती बाजार में बिकेगा 1000 रुपए प्रति किलो

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top