Coconut Farming : नारियल की खेती से किसानों को प्रत्येक वर्ष होगा 100000 में कमाई, जाने इसकी खेती का राज FREE

Coconut Farming – यदि आप एक किसान है और आप खेती करने को लेकर इच्छुक हैं तो आज हम आपको एक ऐसी खेती के बारे में बताने वाले हैं जिसको कर आप प्रत्येक वर्ष 8 से 10 लाख रुपए आसानी 70 से 80 वर्षों तक कमा सकते हैं। इसके अलावा इसके उत्पाद की मांग बाजार में हमेशा रहता है। ऐसे में आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको उसे फसल के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनको कर आप जिंदगी भर लाखों में कमाई कर सकते हैं तो चलिए जानते हैं क्या है फसल? और कैसे करें इसकी खेती।

Kesar ki Kheti : सोना चांदी जैसा कीमत है केसर की, जाने कैसी करे इसकी खेती

किस फसल की खेती पर होगी लाखों में कमाई

Coconut Farming दोस्तों आज हम जिस फसल की बात कर रहे हैं वह है नारियल! नारियल के बारे में अपने अवश्य ही सुना होगा लेकिन बहुत से किसानों को इसके खेती के बारे में जानकारी नहीं होता है। लेकिन आपको बता दे की नारियल की खेती (Coconut Farming) कर आप प्रत्येक वर्ष लाखों में कमाई कर सकते हैं। नारियल की खेती भारत में अत्यधिक मात्रा में केरल, महाराष्ट्र, गोवा, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल समेत कुल 21 राज्यों में किया जाता है।

Coconut Farming

Coconut Farming वहीं इसकी खेती मुख्य तौर पर समुद्री तट वाले इलाकों में ज्यादातर मात्रा में देखने को मिलता है। नारियल की खेती में भारत दुनिया में नंबर 1 पर आता है। वहीं नारियल की खेती के लिए सबसे अच्छा समय जून से सितंबर के बीच का माना जाता है। अगर आप नारियल की खेती करते हैं तो आपको आने वाले समय में इससे काफी अच्छा मुनाफा मिलेगा।  

नारियल के सबसे अच्छे किस्मों की करे खेती

दोस्तों यदि आप नारियल की खेती मानसून के महीने में कर रहे हैं तो आप नारियल के कुछ उन्नत किस्म की खेती करे जो इस प्रकार से है –

  • वेस्ट कोस्ट टॉल नारियल
  • ईस्ट कोस्ट टॉल नारियल
  • चौघाट ग्रीन ड्वार्फ नारियल
  • केरा शंकर 
  • चंद्र लक्ष्य
नारियल की खेती के लिए जलवायु, तापमान और मिट्टी का पीएच मान
Coconut Farming

यदि आप नारियल की खेती करने को लेकर इच्छुक है तो उसके पहले आपको नारियल की खेती के बारे में संपूर्ण जानकारी होना आवश्यक है अन्यथा आपको नारियल की खेती (Coconut Farming) में बड़ा नुकसान हो सकता है। ऐसे में आपको बता दें कि नारियल की खेती के लिए जून से सितंबर महीना सबसे अच्छा माना जाता है। नारियल की खेती के लिए तापमान 10 से 35 डिग्री सेल्सियस सबसे अच्छा माना जाता है जबकि मिट्टी के पीएच मान 6.5 से लेकर 7.5 के बीच का सबसे अच्छा होता है।  

नारियल की खेती (Coconut Farming) कैसे करें?
Coconut Farming

नारियल की खेती के लिए सबसे पहले आपको जलवायु के आधार पर उन्नत किस्म के पौधों का चयन करना है। आप नारियल के पौधों को सीधे नर्सरी से खरीद कर लाकर रोपाई करें। वही नारियल की खेती (Coconut Farming) के लिए जलोढ़ और दोमन मिट्टी सबसे अच्छी मानी जाती है। नारियल की खेती करने के लिए सबसे पहले मिट्टी को अच्छी तरह से तैयार किया जाता है। 

नारियल की खेती में मुख्य तौर पर 9 से 12 महीने के पुराने पौधों की रोपाई सबसे अच्छा माना जाता है जिसमें 6 से 8 पत्तियां पहले से मौजूद होता है। वही नारियल के पौधे को 15 से 20 फीट की दूरी पर लगाना होता है ताकि नारियल की जड़े पानी का जमा न हो। 

नारियल की खेती (Coconut Farming) करने के लिए नारियल के पौधों को लगाने से पहले चिन्हित जगह पर अच्छे से गड्ढे बनाकर उसमें गोबर खाद, कंपोस्ट डालकर कुछ दिनों के लिए छोड़ दिया जाता है फिर नारियल की खेती की जाती है। वही समय समय पर नारियल की खेती में सिंचाई सिंचाई को भी ध्यान में रखा जाता है।

नारियल की खेती से मुनाफा check

बात करें नारियल की खेती (Coconut Farming) में होने वाले मुनाफे के बारे में तो इसका मुनाफा आप पर निर्भर करता है की आखिर आप कितना उत्पादन कर पा रहे हैं। नारियल की खेती में मुख्य तौर पर 3 वर्षों के बाद उत्पादन देखने को मिलता है। वहीं 5 वर्षों के अंतराल पर आपको भारी मात्रा में इसमें उत्पादन प्राप्त होता है। वही नारियल का कीमत बाजार में 5000 रुपए कुंटल के आसपास मौजूद होता है ऐसे में आप नारियल की बिक्री से 8 से 10 लाख रुपए प्रत्येक वर्ष आसानी से कमा सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top